होम ब्लॉग पेज 2
भारत ने चीन को कोरोनावायरस जैविक युद्ध के लिए अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में घसीटा
कोरोनावायरस को जैविक हथियार के रूप में तैयार किये जाने के बाद, उसके भयानक दुस्प्रभाव पर ग्रेटगेमइंडिया की व्यापक रिपोर्टिंग के प्रत्यक्ष प्रभाव से अब भारत ने चीन को कोरोनावायरस जैविक युद्ध के लिए अंतरराष्ट्रीय अदालत में घसीटा है। चीन से मुआवजे की मांग करने वाली संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार...
कोरोनावायरस मानव निर्मित - भारतीय वैज्ञानिकों की खोज
भारतीय वैज्ञानिकों के एक समूह ने पता लगाया है कि वुहान कोरोनावायरस को एड्स (HIV-AIDS) की तरह के आवेषण को साथ मिलकर बनया गया है। अध्ययन से यह निष्कर्ष निकलता है कि इतने कम समय में एक वायरस स्वाभाविक रूप से ऐसे अनोखे सम्मिलन प्राप्त नहीं कर सकता। इस...
कैसे 10 साल पहले WHO ने महामारी की झूठी अफवाह फैलाई
टीकाकरण ने मानव जाति को सौ से अधिक वर्षों तक संक्रामक बीमारी के भयानक खतरे से निपटने में मदद की है। वे सार्वजनिक स्वास्थ्य के प्रमुख उपकरण बन गए हैं, और वैज्ञानिकों से आशा की जाती है कि वे Zika, SARS, Ebola और कोरोनावायरस जैसी नई बीमारियों के खतरे...
कोरोनावायरस परीक्षण प्रोटोकॉल में बड़े पैमाने पर धोखाधड़ी
पूरे विश्व में इस वक़्त कोरोनावायरस के प्रकोप की वजह से लोगों तक टेस्टिंग किट और सुविधा व्यवस्था नहीं पहुँच पा रही है। और ऊपर से लॉकडाउन होनें की वजह से तथा सनकी मीडिया द्वारा बार-बार इन बातों को उजागर करने से एक बात तो साफ़ है कि राष्ट्रों...
जैवयुद्ध विशेषज्ञ डॉ फ्रांसिस बॉयल – कोरोनावायरस एक जैविक युद्ध हथियार
एक धमाकेदार साक्षात्कार में डॉ. फ्रांसिस बॉयल जिन्होंने जैविक हथियार अधिनियम का ड्राफ्ट तैयार किया था, उन्होंने एक विस्तृत बयान देते हुए कहा है, कि 2019 वुहान कोरोनावायरस एक आक्रामक जैविक युद्ध हथियार है। और इसके बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) पहले से ही जानता है। फ्रांसिस बॉयल यूनिवर्सिटी...
फ्रैंक प्लमर हत्या - कोरोनावायरस जांच की अहम् कड़ी
प्रसिद्ध वैज्ञानिक फ्रैंक प्लमर ने सऊदी SARS कोरोना वायरस पर अध्ययन किया और विनीपेग आधारित लैब में कोरोना वायरस (HIV) वैक्सीन पर भी काम कर रहे थे| यह वही लैब है जहाँ से चीनी जैव युद्ध एजेंटों द्वारा कोरोना वायरस की तस्करी की गयी थी| डॉ प्लमर की रहस्मय...
क्या कोरोनावायरस एक जैविक हथियार है
पिछले साल एक रहस्यमय शिपमेंट को कनाडा से कोरोनावायरस की तस्करी करते पकड़ा गया था। जिसमे कनाडाई लैब में काम करने वाले कुछ चीनी एजेंटों के हाथ होनेका पता लगा था| ग्रेटगेमइंडिया की बाद की जांच में पाया गया कि यह चीनी जैविक युद्ध कार्यक्रम का हिस्सा है| जहां...
21,713फैंसलाइक करें
18,347फॉलोवरफॉलो करें